भीलवाड़ा में तस्करों ने दागी गोली, दो पुलिस जवान की मौत

भीलवाड़ा में तस्करों ने दागी गोली, दो पुलिस जवान की मौत

Report: Mahendra Kudiya

भीलवाड़ा। जिले में शनिवार रात मादक पदार्थ की तस्करों ने पुलिस की नाकाबंदी के दौरान खूनी खेल खेला। पुलिस जाप्ते के रोकने पर कोटड़ी के बाद रायला में तस्करों ने अंधाधुंध फायरिंग की। घटना में दो पुलिस कर्मियों की मौत हो गई। समूचा घटनाक्रम महज पांच घंटे के दौरान घटित हुआ। आईसी व पुलिस अधीक्षक ने रविवार सुबह फिर से घटना स्थल का मुआयना किया। पुलिस कर्मियों के शवों का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।

पुलिस के अनुसार कोटड़ी थाना पुलिस को शनिवार रात मुखबिर से सूचना मिली कि दो गाडिय़ों में मादक पदार्थ तस्करी कर ले जाई जा रही है। कोटड़ी थानाप्रभारी नंदसिंह के नेतृत्व में जाप्ता चारभुजा नाथ मंदिर के निकट बाइपास पर नाकाबंदी शुरू की। इस दौरान रात १०.४५ बजे नंदराय रोड की ओर से आ रही दो पिकअप और दो जीप को पुलिसकर्मियों ने रोकने का इशारा किया। दोनों पिकअप के आगे पीछे लग्जरी जीप चल रही थी।

पुलिसकर्मियों के रोकने का इशारा करते हुए वाहनों में सवार तस्कर पुलिस जाप्ते से उलझ गए। इसके बाद तस्करों ने फ ायर कर दिया। अचानक फायरिंग से पुलिसकर्मियों को संभलने का समय नहीं मिला। नाकाबंदी करने पहुंचे पुलिसकर्मियों के पास हथियार नहीं थे। बिना हथियार के पुलिसकर्मी नाकाबंदी करने पहुंच गए। जैसे ही फ ायरिंग शुरू हुई। पुलिसकर्मियों को संभलने का मौका नहीं मिला। कोई पेड़ के तले तो कोई पुलिस गाड़ी के पीछे छिपकर जान बचाई।

फ ायरिंग में कोटड़ी थाने के सिपाही औंकारसिंह (२९) के सीने में गोली लगी। कई राउण्ड फ ायर करते हुए तस्कर वाहनों में भाग गए। बिना हथियार के पुलिसकर्मी असहाय हो गए। तस्करों के भागने के बाद थानाप्रभारी सिंह समेत उनके साथ मौजूद जाप्ता बाहर निकाला तो साथी अैंकार को खून से लथपथ देखा। उसे तत्काल कोटड़ी अस्पताल लाया गया। यहां से भीलवाड़ा रैफर कर दिया। एमजीएच पहुंचने पर ऊंकार ने दम तोड़ दिया। सूचना पर पुलिस अधीक्षक शर्मा देर रात मौक पर पहुंचे।

अजमेर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक संजीव संगाथिर भी घटनास्थल पर आए, तस्करों की तलाश में जिले भर में नाकेबंदी कराई गई।

शनिवार देर रात २.३० बजे तस्कर रायला थाना क्षेत्र में पहुंच गए। अजमेर राजमार्ग पर रायला थाने के बाहर कड़ी नाकेबंदी की जा रही थी। पुलिस के रोकने पर तस्करों ने वाहनों का रास्ता बदल दिया। लीडिया का खेड़ा में तस्करों ने पुलिस जाप्ते पर फ ायरिंग कर दी। फायरिंग में रायला थाने के जवान पवन चौधरी की गोली लगने से मौत हो गई। पुलिस जाप्ते ने बाद में बचाव में तस्करों पर फायरिंग की।

उसके बाद रायला, गुलाबपुरा, बदनोर, शंभूगढ़, आसींद थाना पुलिस तस्करों के पीछे लगी। लेकिन वह हाथ नहीं आए। रात भर जिले में नाकेबंदी चलती रहे। तस्कर पुलिस को छकाने के बाद भाग गए। पुलिस के दो जवानों की मौत से भीलवाड़ा पुलिस महकमे शोक की लहर दौड़ गई। अजमेर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक एस सेंगेथिर और पुलिस अधीक्षक विकास शर्मा ने दोनों स्थानों पर रविवार सुबह दोबारा घटनास्थल का दौरा किया। दोनों शवों का एमजीएच में कुछ देर बाद पोस्टमार्टम होगा।

उधर पुलिस तस्करों की तलाश में कई स्थानों पर सीसीटीवी फु टेज को खंगाल रही है। पुलिस को सीसी में तस्करों की गाडिय़ों के फुटेज भी मिले है, इसी आधार पर उनके मालिकों को भी तलाश में पुलिस जुट गई है।

पुलिस महानिदेशक एम एल लाठर ने दोनों ही मामलों की जयपुर में समीक्षा की। जयपुर से विशेष टीम भीलवाड़ा भिजवाई जा रही है। रायला में तस्करों की फ ायरिंग के बाद पुलिस टीम ने भी जवाबी कार्रवाई में चलाई गोलियां। कांस्टेबल पवन की सिर में गोली लगने से हुई मौत। पुलिस जाब्ते में शामिल वाहन भी फायरिंग में क्षतिग्रस्त।