महाराणा प्रताप विवाद: राजसमंद में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की जनसभा के बाहर कटारिया के खिलाफ हुई नारेबाजी

विधानसभा उपचुनाव में भाजपा के स्टार प्रचारक गुलाबचंद कटारिया ने कुरज में हुई जनसभा में महाराणा प्रताप के खिलाफ विवादित टिप्पडी की. इसके बाद से राजपूत समाज में रोष व्याप्त हो गया. हालांकि विरोध के बाद सोमवार देर शाम गुलाबचंद कटारिया ने एक बयान जारी कर माफी मांग ली है. इससे पहले रविवार को कुरज में हुई एक जनसभा में गुलाब चंद कटारिया ने कहा था कि प्रताप सालों तक डूंगर-डूंगर, पहाड़ी पहाड़ी किसके लिए रोता फिरा था.

 Update: Mahendra Kudiya 

कटारिया ने महाराणा प्रताप के लिए अशोभनीय भाषा का इस्तेमाल किया था. इसके विरोध में सोमवार शाम को जब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की जनसभा खत्म हुई, तो राजपूत समाज के युवा सभा स्थल पर पहुंचे और कटारिया के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. इस दौरान बीजेपी के कार्यकर्ता भी वहां पहुंचे और मोदी के समर्थन में नारेबाजी करने लगे. दोनों ही तरफ नारेबाजी होने पर माहौल गरमा गया और युवा आमने-सामने हो गए. पुलिस ने मोर्चा संभाला और दोनों ही पक्षों के युवाओं को अलग कर खदेड़ा.


वहीं गहलोत सरकार में मंत्री ममता भूपेश ने कटारिया के बयान पर कहा कि यह पहली बार नहीं है जब कटारिया ने किसी के खिलाफ अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया हो. कटारिया पहले भी ऐसा कई बार कर चुके हैं. ममता भूपेश कटारिया की अब जुबान ही अमर्यादित हो चुकी है.