नागौर: महिला टीचर किडनैप - रेप की कोशिश के मामले पर, सांसद Hanuman Beniwal ने दे डाली चेतावनी

Ravindra Choudhary | Updated: 15 Mar 2021

प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर राज्य सरकार विरोधी राजनीतिक दलों के निशाने पर है। इस मुद्दे पर जहां भाजपा के वरिष्ठ नेता मुखर होकर सरकार को घेरने में लगे हैं, तो वहीं राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने भी कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सरकार को आड़े हाथ लेना शुरू कर दिया है।

आरएलपी सांसद हनुमान बेनीवाल ने नागौर जिले में अपराधियों के बुलंद हौंसलों का एक उदाहरण देते हुए सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने अपराधियों के बेख़ौफ़ होकर वारदात को अंजाम देने पर चिंता जताई और पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था और ऐसे मामलों में कार्रवाई पर सवाल उठाए।

उन्होंने डीडवाना क्षेत्र में सरकारी स्कूल में कार्यरत महिला शिक्षक के अपहरण और फिर बलात्कार के प्रयास की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक करार दिया। बेनीवाल ने राज्य सरकार और पुलिस से इस घटना के दोषियों को जल्द गिरफ्तार करने और कठोर कानूनी कार्रवाई की अपील की।

‘पुलिस का इकबाल ख़त्म’ सांसद बेनीवाल ने अपने संसदीय क्षेत्र नागौर में बढ़ते अपराध को लेकर चिंता जताई। आज ट्वीट के माध्यम से उन्होंने इस घटना का उल्लेख करते हुए कहा कि ऐसी वारदातों से पुनः यह साबित होता है कि नागौर जिले में पुलिस का कोई इकबाल ही नहीं है। बस के इंतजार में खड़ी महिला शिक्षक का अपहरण करना यह साबित करता है कि अपराधी कितने बेखौफ होकर वारदातों को अंजाम दे रहे हैं।

नागौर: महिला टीचर किडनैप - रेप की कोशिश के मामले पर,  सांसद Hanuman Beniwal ने दे डाली चेतावनी

‘पुलिस अधिकारियों से बातचीत, कठोर कार्रवाई के निर्देश’

आरएलपी सांसद बेनीवाल ने कहा कि नागौर जिले के डीडवाना क्षेत्र के ग्राम आजडोली में सरकारी स्कूल में कार्यरत अध्यापिका जो एक किसान की बेटी है, उसके साथ हुए दुर्व्यवहार के मामले को लेकर गृह विभाग के प्रमुख शासन सचिव, डीजीपी और रेंज आईजी से दूरभाष पर वार्ता कर आरोपियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

‘लोकेशन मिलने के बाद भी पुलिस नहीं हुई एक्टिव’

बेनीवाल ने कहा कि इस घटना में जब आरोपी, सरकारी अध्यापिका को गलत रास्ते पर लेकर गए तब उसने तत्काल लाईव लोकेशन भेजी। इस लाइव लोकेशन के मिलने के बाद भी पुलिस कई घंटों तक एक्टिव नहीं हुई। यदि पुलिस समय रहते लाइव लोकेशन के आधार पर संज्ञान ले लेती तो इस घटना के सभी जिम्मेदार तत्काल सलाखों के पीछे होते। ये पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह है।

‘महिला एसपी के बावजूद महिला उत्पीडन में वृद्धि’

नागौर सांसद ने घटना पर नाराजगी जताते हुए कहा कि नागौर जिले में एक महिला एसपी होने के बावजूद महिलाओं पर उत्पीड़न जैसी घटनाओं में वृद्धि हो रही है। इससे प्रतीत होता है कि जिले की पुलिस अपनी जिम्मेदारी को कहीं न कहीं भूल रही है।

‘पुलिस लापरवाही की हो उच्च स्तरीय जांच’

सांसद ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो RLP पार्टी खुनखुना थाने का घेराव करेगी और आरएलपी के विधायक मामले को विधानसभा में भी उठाएंगे।