राजस्थान से बड़ी खबर RLP ने किया बड़ा ऐलान

जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्यों का चुनाव अकेले लड़ेगी आरएलपी

जयपुर। राजस्थान में तीसरे दल के रूप के उभरी

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी यानी आरएलपी अकेले
दम पर जिला परिषद और पंचायत समिति का
चुनाव लडेगी। इस चुनाव में आरएलपी ने अपने
सहयोगी दल भाजपा के साथ चुनाव नहीं लड़ने का
फैसला लिया है। हाल ही में 6 नगर निगमों में होने
जा रहे चुनावों में भी आरएलपी ने अपने प्रत्याशी
मैदान में उतारे है।

इन क्षेत्रों में रहेगा फोकस

आरएलपी प्रमुख हनुमान बेनीवाल ने बताया कि
पार्टी जिला परिषद और पंचायत समिति चुनाव में
उन्हीं क्षेत्रों में ज्यादा फोकस करेगे, जहां पार्टी
विधानसभा व लोकसभा चुनाव में मजबूती से
उभरकर सामने आई थी। लेकिन अब हम अब
पार्टी का विस्तार करने के लिए मारवाड़ क्षेत्र के
अलावा शेखावाटी अंचल और उससे लगते आस
पास के क्षेत्रों में भी ज्यादा से ज्यादा उम्मीदवार
उतारेगे।

आज बुलाई पार्टी पदाधिकारियों की
बैठक

पार्टी प्रमुख और सांसद हनुमान बेनीवाल ने चुनाव
रणनीति तैयार करने के लिए आज अपने जयपुर
स्थित आवास पर पार्टी पदाधिकारियों की बैठक
बुलाई है। इस बैठक में जिलेवार सीकर, झुंझुनूं
और चूरू के पदाधिकारी शामिल होंगे।
ऐसा रहा था विधानसभा व लोकसभा चुनाव में
प्रदर्शन प्रदेश में विधानसभा चुनावों से एक माह
पहले अस्तित्व में आने वाली आरएलपी ने
खींवसर, मेड़ता और भोपालगढ विधानसभा क्षेत्रों
में जीत दर्ज कर विधानसभा में अपनी उपस्थिति
दर्ज करवाई। यही नहीं दो विधानसभा क्षेत्र जायल
और बायतू में पार्टी दूसरे स्थान पर रही। इसके
बाद साल 2019 में हुए लोकसभा चुनावों में राष्ट्रीय
जनतांत्रिक गठबंधन यानी एनडीए में शामिल
होकर एक सीट पर राजस्थान से चुनाव लड़ा और
जीत दर्ज की। इसके अलावा अक्टूबर 2019 में
विधानसभा के उपचुनाव में भी गठबंधन के तहत
चुनाव लड़कर एक सीट पर फतह पाई।