Nikita Tomar Faridabad case : 'तौसीफ ने वादा किया था, बेटी को परेशान नहीं करेगा, पर जान ही ले ली'

निकिता तोमर हत्‍याकांड: 'तौसीफ ने वादा किया था, बेटी को परेशान नहीं करेगा, पर जान ही ले ली'


Nikita Tomar Faridabad case: पेपर देकर निकल रही निकिता तोमर की बल्‍लभगढ़ में तौसीफ नाम के युवक ने गोली मार कर हत्‍या कर दी थी। निकिता के पिता का कहना है कि तौसीफ शादी करने का दबाव बना रहा था।
Nikita Tomar Faridabad case :  'तौसीफ ने वादा किया था, बेटी को परेशान नहीं करेगा, पर जान ही ले ली'

हरियाणा के बल्‍लभगढ़ में दिनदहाड़े एक युवती की हत्‍या से सनसनी है। मृतक निकिता तोमर (Nikita Tomar) के पिता मूलचंद ने आरोप लगाया कि ये पूरा मामला लव जिहाद का है। तौसीफ ने बेटी को पहले भी अपहरण करने की कोशिश की थी। उस वक्त उसके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया गया था। मगर उसके माता-पिता ने जब ये वादा किया था कि वो उनकी बेटी को परेशान नहीं करेगा तो उन्होंने समझौता करके केस वापस ले लिया था। मगर फिर से आरोपित उसे परेशान कर रहा था। वहीं, मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। राष्टीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने हत्याकांड का स्वतः संज्ञान लेते हुए हरियाणा के डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस को पत्र लिखा है। निकिता के भाई प्रवीण का कहना है कि हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द हमारी बहन को न्याय मिले। दोषियों को फांसी हो या उनका एनकाउंटर किया जाए।'शादी करने का दबाव बना रहा था तौसीफ'


निकिता के पिता ने बताया कि मुख्य आरोपित तौसीफ कई सालों से उनकी बेटी पर धर्म परिवर्तन कर उससे शादी करने का दबाव बना रहा था। निकिता पढ़ाई में हमेशा अव्वल आती थी। ऐसे में वो उससे बात भी नहीं करना पसंद करती थी। उन्होंने बताया कि आरोपित 2018 में भी लड़की को अपने साथ ले गया था जिस पर मामला थाना सिटी बल्लभगढ़ में दर्ज किया गया था। निकिता के पिता का दावा है कि आरोपित की मां पिछले दो साल से बेटी पर धर्म परिवर्तन का दबाव डाल रही थी।

12 घंटे में पकड़े गए तौफीक और रेहान

गिरफ्तार तौसीफ की उम्र 21 वर्ष है, आरोपित फिजियोथैरेपी का कोर्स कर रहा है। दूसरा आरोपित रेहान मेवात का रहने वाला है। इस मामले में एसआईटी गठित की गई है। पुलिस कमिश्नर ने क्राइम ब्रांच की 10 टीमों को जल्द से जल्द आरोपितों को गिरफ्तार करने के दिशा निर्देश दिए थे।