राजस्थान - 10 लोकसभा सीटो पर बड़ी पार्टियों का खेल बिगाड़ेगी छोटी पार्टीयां


प्रदेश में 25 में से 10 लोकसभा सीटों पर भाजपा और कांग्रेस के चार पार्टियां बसपा, बीटीपी. आरएलपी और माकपा समीकरण प्रभावित करेगी। भरतपुर, नौलो-धौलपुर, नागौर, गंगानगर, बाड़मेर, जयपुर ग्रामीण, जोधपुर, सीकर, चांसवाड़ा-दूगरपुर, टोंक- सवाई माधोपुर सीटों में सबसे ज्यादा असर हो सकता है। बसपा, बीटीपी, आरएलपी व माकपा के प्रदेश में अभी 13 विधायक हैं। इन चार पार्टियों ने विधानसभा चुनाव में 29 लाख 56 हजार से अधिक चोट कासित किए थे। कुल वोट शेयर आठ प्रतिशत से अधिक रहा था। वहीं निर्दलीयों का वोट प्रतिशत 9.5 रहा ।

बांसवाड़ा - डूंगरपुर लोकसभा क्षेत्र 


आदिवासियों के डवलपमेंट से जुड़ी भारतीय ट्राइबल पार्टी के पास लोकसभा क्षेत्र की आठ विधानसभा सीटों में से फिलहाल 2 सीटें हैं । इस क्षेत्र की आठ विधानसभा सीटों पर पार्टी को लगभग 1 लाख 59 हजार से अधिक मत मील थे । विधानसभा के चुनावों में पहली बार उतरी पार्टी की वर्किंग इतनी अच्छी रही कि चुनावी विश्लेषकों को भी नही पता चल पाया कि पार्टी 2 सीटें निकल रही है ।

बसपा 


बसपा का प्रभाव राजस्थान के भरतपुर और धौलपुर-करौली लोकसभा क्षेत्रों में हैं । बसपा का वोट शेयर इस बार प्रदेश में 4 प्रतिशत रहा है । भरतपुर धौलपुर और करौली के अलावा अन्य जगहों पर भी इनके समीकरण मजबूत हैं । विधानसभा चुनाव में पार्टी के 6 विधायक जीते हैं । बसपा की पहली सूची दो -तीन दिन में आएगी । ऐसे में भीलवाड़ा , भरतपुर , करौली धौलपुर सीट पर मजबूत चेहरे देखने को मिल सकते हैं ।

रालोपा 


हनुमान बेनीवाल की रालोपा का असर प्रदेश में नागौर , पाली बाड़मेर , जोधपुर और जयपुर ग्रामीण में देखने को मिलेगा । गत विधानसभा चुनावों में रालोपा ने नागौर में 1 लाख 58 हजार से अधिक वोट हासिल किए थे । बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा सीट की आठ विधानसभा सीटों में से रालोपा के प्रत्याशियों ने 1 लाख 48 हजार से अधिक वोट लिए थे । इसी तरह जयपुर ग्रामीण लोकसभा क्षेत्र में रालोपा ने 1 लाख से अधिक मत प्राप्त किए थे । उधर जोधपुर व पाली लोकसभा क्षेत्र में भी 1 - 1 विधानसभा की सीटों के साथ रालोपा अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुकी है ।

माकपा 


माकपा ने सीकर व बीकानेर लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी उतार दिए हैं चूरू में भी माकपा अपना प्रत्याशी उतारेगी । पार्टी ने सीकर से पूर्व विधायक अमराराम व बीकानेर से श्योपत राम मेघवाल कक अपना उम्मीदवार बनाया है । सीकर लोकसभा क्षेत्र को प्रदेश में माकपा का गढ़ माना जाता है । इसके अलावा चूरू व बीकानेर लोकसभा सीट पर पार्टी के पास 1-1 विधायक भी हैं ।