तेज बहादुर बोले- मुकाबला 'असली' और 'नकली चौकीदार' के बीच होगा

वाराणसी से मोदी के सामने चुनाव लङेंगे सेना के पूर्व जवान तेज बहादुर सिंह !

Political Tak

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जिल कॉन्सटेबल  को सेना के भोजन में खामी निकालने के चलते पद से हटा दिया गया था अब वह वाराणसी से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर लोकसभा चुनाव लड़ रहे हैं। ज्ञात हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी वाराणसी से फिर से चुनाव मैदान में हैं। 

तेज बहादुर यादव का कहना है कि मैं प्रधानमंत्री से पूछूंगा आपने जो ढेर सारे वादे किए थे उन्हें लेकर अब तक क्या किया गया है..? तेज बहादुर का कहना है कि यह एक बराबरी की लड़ाई है।

एकतरफ जनता के सामने 'असली चौकीदार' है और दूसरी तरफ 'नकली चौकीदार'। यादव का कहना है कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि वे सशस्त्र सेना के जवानों को मरणोपरान्त शहीद का दर्जा देंगे, उन्हें पेंशन भी दी जाएगी। इस वादे का क्या हुआ..?